Wednesday, December 1, 2021
Home Blog

कैसे हर स्टेशन पर Photographer का कैमरा संभालते रहे Rajiv Gandhi

0

कहा जाता है कि एक इंसान अच्छा है या बुरा यह जानने के लिए यह मत देखिए कि वह क्या बोलता है, बल्कि यह देखिए कि वह क्या करता है, कैसे पेश आता है, उसका रवैया क्या है. राजीव गांधी के जन्मदिन पर उन्हें ऐसे ही जानने की कोशिश करते हैं. एक फोटोग्राफर के तौर पर जगदीश यादव उनके साथ उस यात्रा के अनुभव को साझा करते हैं, जिसमें वह राजीव गांधी के साथ अपने आत्मीय बन चुके रिश्ते की बात करते हैं. राजीव जी चुनाव हार गए थे. जनता दल के विश्वनाथ प्रताप यानी वीपी सिंह प्रधानमंत्री बन गये थे. गांधी ने इसके बाद उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों की पैसेंजर ट्रेन से यात्रा की. उत्तर प्रदेश की यात्रा के दौरान जगदीश यादव भी उन्हें कवर करने के लिए उनके साथ थे. उस समय आरक्षण आंदोलन से प्रदेश की राजनीति गर्म थी. राजीव गांधी एक पैसेंजर ट्रेन से जो कि हर प्लेटफार्म पर रुकती थी उत्तर प्रदेश और बिहार की यात्रा पर निकले थे. वह एक छोटे माइक सिस्टम के जरिए हर प्लेटफार्म पर पहले से इंतजार कर रहे लोगों को संबोधित करते थे. एक नेता का इस तरह आम आदमी की तरह जनता से सीधे कनेक्ट होना उस समय एक नई बात थी. यादव कहते हैं, ‘जब ट्रेन चलने को होती थी तो वह अपनी सीट पर आकर वापस बैठ जाते थे और उनके साथ मैं भी बैठ जाता था. अगले प्लेटफार्म के लिए जब ट्रेन रुकने को होती थी तो दो लोग दौड़ते थे आगे-आगे मैं और पीछे-पीछे राजीव गांधी.

जगदीश बताते हैं कि उन दिनों वह आनंद बाजार ग्रुप में काम कर रहे थे और टेलीग्राफ को इन तस्वीरों की जरूरत थी.’ उन्होंने बताया कि जब ट्रेन धीमी होने लगती तभी मैं कूद जाता था ये क्रम चलता रहा. वह बताते हैं कि इस दौरान जो सबसे दिलचस्प बात हुई वह यह कि अगला स्टेशन आने से पहले जब ट्रेन धीमी हुई, और मैंने फिर कूदने की कोशिश की तो राजीव ने मुझे गेट पर रोक लिया और कहा, ‘देखिए इस तरह आप ट्रेन से बार-बार कूद रहे हैं मुझे भय लगता है कि आपके हाथ-पैर में चोट लग सकती है. आप ऐसा करें आप खाली हाथ कूदा करें, कैमरा मुझे पकड़ा दिया करें, जब आप कूद जाएंगे, सुरक्षित प्लेटफार्म पर खड़े हो जाएंगे तो मैं कैमरा आपको पकड़ा दिया करूंगा.’ जगदीश बताते हैं कि और वह आगे के प्लेटफार्मों के लिए ऐसा करना शुरू कर दिया और मेरा इस तरह ख्याल करने लगे. ‘वह कहते हैं, ‘इतने ऊंचे ओहदे पर रहते हुए उनका इस तरह केयरिंग होना, ध्यान रखना ओ भी एक फोटोग्राफर का जो कि मेरे जेहन में हमेशा के लिए बैठ गया.’ उन्होने कहा कि वह कई स्टेशनों तक मुझे इसी तरह कैमरा पकड़ाते रहे और मैं शूट करता रहा. जगदीश बताते हैं कि उन्होंने जाते-जाते वादा किया था कि, ‘वह एक बार जरूर मिलेंगे, तस्वीरें देखेंगे कि कैसी आपने खींची हैं.’ मैंने भी कहा कि आप भी अपनी शूट की हुई तस्वीरें दिखाइएगा क्योंकि सुना है आप भी तस्वीरें बहुत अच्छी शूट करते हैं. उन्होंने कहा बिलकुल दिखाएंगे. यादव कहते हैं लेकिन दुर्भाग्य यह कि उसी साल चंद्रशेखर के इस्तीफा देने के बाद जब लोकसभा का चुनाव आया तो चुनाव प्रचार के दौरान वह मारे गए, जिसका मुझे बहुत दुख है और मैं उनसे नहीं मिल सका. इसका मुझे आज तक मलाल है

तालिबानियों को राखी बांधकर उन्हें औरतों की इज्जत करना सिखाऊंगी-Mahika Sharma

0
  • अफगानिस्तान पर ताबिलान के कब्जे के बाद से पूरी दुनिया में अफगानिस्तान के आम नागरिकों के लिए हमदर्दी देखने को मिल रही है. अभिनेत्री माहिका शर्मा ने कहा है कि वो इस रक्षाबंधन पर अफगानिस्तान जाकर तालिबानियों को राखी बांधना चाहती हैं. उन्होंने कहा कि मैं उन्हें राखी बांधने के बाद मार मार के महिलाओं की इज्जत करना सिखाऊंगी माहिका ने ट्वीट किया, ”मैं अफगानिस्तान को बचाने आ रही हूं. मैं सभी तालिबानियों को अपना भाई बना लूंगी और उन्हें रक्षाबंधन पर राखी बांधूंगी. इसके बाद उन्हें बहन की तरह मार मार कर औरतों की इज्जत करना सिखाउंगी. उनकी मां बहने नहीं हैं, इसलिए वे औरतों की इज्जत नहीं करते. मोदी जी कैसा लगा मेरा आइडिया?” माहिका ने कहा, ”तालिबानियों को शायद कभी मां और बहन का प्यार नहीं मिला इसलिए वे सभी आतंकी बन गए. मैं तालिबानियों को राखी बांधूंगी और औरतों का सम्मान करना सिखाऊंगी. मुझे लगता है कि इस तरह मैं अफगानिस्तान के लोगों को बचा सकती हूं,” एफआईआर और रामायण जैसे टीवी सीरियल में काम चुकी माहिका ने कहा कि मुझे मदद की जरूरत है. मैं किसी ऐसे आदमी की मदद चाहती हूं जो मेरी राखी तालिबान तक पहुंचा दे. मैंने कूरियर से राखी भेजने की कोशिश की मगर उन्होंने उसे नहीं लिया तालिबान भले ही लाख दावें करता हो कि वो बदल गया है. महिलाओं को शरीयत के लिहाज से अधिकार देगा..लेकिन हर रोज तालिबान के इस झूठ से पर्दा उठ रहा है. तालिबान राज के नाम से महिलाएं इस कदर डरी हुई हैं कि वो एयरपोर्ट पर अपने बच्चों को हवा में उछाल रही हैं. तालिबान के इस डर की वजह से वहां के हज़ारों लोग पहले भी अपना देश छोड़कर दुनिया के अलग-अलग देशों में शरणार्थी की ज़िंदगी जी रहे हैं.

रक्षाबंधन पर 500 साल बाद बन रहा है दुर्लभ संयोग, जान लीजिये अपना राशिफल

0
Rakshabandhan
Rakshabandhan

रक्षा बंधन का त्योहार श्रवण नक्षत्र में मनाया जाता है, लेकिन इस बार ये धनिष्ठा नक्षत्र में मनाया जाएगा. गुरु और चंद्रमा के एक राशि में होने से गज केसरी योग भी बन रहा है. सूर्य मंगल और बुध के साथ सिंह राशि में विराजमान रहेंगे. इस दिन शुक्र ग्रह कन्या राशि होंगे. ग्रहों का ऐसा योग शुभ और फलदायी माना जा रहा है. ग्रहों की ऐसी स्थिति 474 साल बाद बन रही है. इससे पहले 11 अगस्त 1547 को ऐसा समय आया था जब धनिष्ठा नक्षत्र में रक्षा बंधन मनाया गया था और सूर्य, मंगल व बुध एक ही राशि में थे. उस समय शुक्र बुध के स्वामित्व वाली राशि मिथुन में थे. जबकि इस साल शुक्र बुध के स्वामित्व की कन्या राशि होगा. ऐसे में मेष, कर्क, तुला, मकर और कुंभ राशि के जातकों को अधिक लाभ होने का संभावना बनेगी. आइए जानते रक्षा बंधन पर ग्रहों का ऐसा मिलन सभी राशियों के लिए कैसा रहेगा.

  1. मिथुन- मिथुन राशि के जातकों के लिए रक्षा बंधन से लेकर अगले तीन दिन तक भाग्य का साथ मिलेगा. जीवन में चल रही तमाम अड़चनें दूर होंगी. यात्राएं सुखद रहेंगी और लाभ होगा.
  2. कर्क- कर्क राशि के जातकों को आय में वृद्धि या धन का लाभ होने की संभावना बहुत कम है. कार्यों में व्यस्तता बढ़ी रहेगी.
  3. सिंह- सिंह राशि के जातक विरोधियों पर हावी रहेंगे. संतान पक्षा से शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है और विवादों से दूर रहेंगे.
  4. कन्या- कन्या राशि के जातकों के लिए रक्षा बंधन का दिन बेहद शुभ रहेगा. आय बढ़ेगी और सम्मान में भी वृद्धि होगी. आपके विरोधी शांत रहेंगे
  5. तुला- तुला राशि वालों को भाग्य का साथ मिलेगा. संतान पक्ष से लाभ होगा. आय में वृद्धि हो सकती है. हालांकि कार्यों का भार बढ़ सकता है.
  6. वृश्चिक- वृश्चिक राशि वालों के लिए भी दिन व्यस्त रहेगा. जल्दबाजी से नुकसान होने की संभावनाएं हैं. विवादों से दूर रहने का प्रयास करें.
  7. धनु- धनु राशि वालों पर जिम्मेदारियां का बोझ बढ़ेगा, लेकिन आप उम्मीद से बेहतर कार्य कर पाएंगे. भाइयों या भाई तुल्य लोगों से मदद मिल सकती है. भाग्य का साथ मिलेगा.
  8. मकर- लंबे समय से चली आ रही आर्थिक समस्याएं हल होंगी. धन, संपत्ति का योग बन रहा है. किसी बड़े कार्य में सफलता मिलने के आसार बढ़ेंगे.
  9. कुंभ- बृहस्पति की कृपा से आय अच्छी होगी. कार्य में सफलता मिलेगी. सरकारी कार्यो में सफलता मिलेगी. धन लाभ के योग बनेंगे.
  10. मीन- मीन राशि वालों के लिए भी लाभ की शुभ घड़ी आएगी. योजनाएं और रणनीतियां सफल होंगी. धन संबंधी रुकावटें कम होंगी.